Help Us Share
The Word

Home Induction

Induction

Uttar Pradesh is the most populous state of India with a total population count of 16,60,52,859. Not only does UP account for a 6th of the total Indian population but if compared its population exceeds that of France, Germany, and the Netherlands combined. Selecting deserving meritorious students out of such a huge population base is a tremendous challenge.

VidyaGyan is set apart by its unique and largest search admission process that handpicks the best students from a total pool of almost 200,000 children, who appear for the first round of tests. One student is selected for induction out of every 500 students who apply, through a rigorous, three-part selection process, which ensures that the selected students constitute the top-of-the-bottom-of-the-pyramid.

Student Selection Process

  • Students from rural, low income families: parent’s income less than Rs. 100,000 per annum. Families are required to present a valid income certificate.
  • Selection process is based on the results of the entrance tests administered by VidyaGyan
  • Selection process emphasizes equal representation for either gender
  • Student have to go through a preliminary and final test
  • Depending on annual cutoff, ~300 students are inducted to VidyaGyan after background verification

Selection Process

Academic Year 2013-14 2014-15 2015-16 2016-17 2017-18 2018-19 2019-20
Applicants 100815 161895 244568 242022 246407 250639 200723
Students Appeared 83423 80212 139319 133020 133020 135593 105713
Districts Covered 59 75 75 75 75 75 75
Schools Covered 64317 109747 137936 138145 139257 138715 139349
Students Selected in Preliminary Test 2000 2940 6002 2053 2236 2348 4489
Students Selected after Final Test 305 410 4796 1714 295 492 497
Students Selected 174 306 199 121 149 281 236

प्रवेश

बीस करोड़ से भी अधिक जनसंख्या का उत्तर प्रदेश राज्य भारत का सबसे अधिक जनसंख्या एवं घनी जनसंख्या वाला राज्य है। उत्तर प्रदेश में न केवल भारत की कुल जनसंख्या का छठा हिस्सा निवास करता है वरन यदि तुलना की जाय तो उत्तर प्रदेश की कुल जनसंख्या फ्रांस, जर्मनी और नीदरलैंड जैसे तीन देशों की संयुक्त आबादी से भी अधिक है। इतनी बड़ी जनसंख्या एवं 800 किलोमीटर पूर्व-पश्चिम तथा 400 किलोमीटर उत्तर-दक्षिण के वृहत क्षेत्र में से 600 योग्य, गुणवान एवं मेधावी विद्यार्थियों का चयन करना बहुत कठिन चुनौती है।

विद्याज्ञान स्कूल में प्रवेश के लिए विद्यार्थियों को एक कठिन परीक्षा से निकलना होता है। चयन हेतु अनूठी ‘प्रतिभा खोज प्रक्रिया’ निर्धारित है जिसमें प्रथम चरण में, उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से पिछड़े परिवारों के कक्षा 5 में अध्ययनरत लगभग 5 लाख विद्यार्थियों के समूह में से सर्वोच्च अंक प्राप्त श्रेष्ठ बालिकाओं एवं बालकों को अभिज्ञात करती है। द्वितीय चरण में ऐसे अभिज्ञात सर्वोच्च अंक प्राप्त श्रेष्ठ विद्यार्थियों में से उत्कृष्ट सर्वोच्च अंक प्राप्त मेधावी बालिकाओं एवं बालकों का चयन लिखित परीक्षा के माध्यम से होता है जो शीर्ष से प्रारम्भ होकर आधार तक एक आदर्श पिरामिड प्रस्तुत करता है।

विद्यार्थी चयन प्रक्रिया

  • ग्रामीण क्षेत्रों के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों जिनकी वार्षिक आय एक लाख रुपया से कम हो। परिवारों को आय का विधिक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।
  • विद्याज्ञान द्वारा संचालित प्रवेश परीक्षा के परिणाम के आधार पर चयन प्रक्रिया निर्धारित है
  • चयन प्रक्रिया में दोनों लिगों को समान प्रतिनिधित्व का अवसर प्रदान किया जाता हैं।
  • विद्यार्थी को प्रारम्भिक तथा अंतिम परीक्षा का सामना करना होता है।
  • न्यूनतम अंकों प्राप्त करने तथा भौतिक सत्यापन के उपरान्त, 300 विद्यार्थियों को विद्याज्ञान में प्रवेश प्राप्त होता है।

चयन प्रक्रिया

शैक्षिक वर्ष 2013-14 2014-15 2015-16 2016-17 2017-18 2018-19 2019-20
आवेदक 100815 161895 244568 242022 246407 250639 200723
परीक्षा में बैठे छात्र 83423 80212 139319 133020 133020 135593 105713
आच्छादित जनपद 59 75 75 75 75 75 75
आच्छादित विद्यालय 64317 109747 137936 138145 139257 138715 139349
प्रारम्भिक परीक्षा में चुने गये छात्र 2000 2940 6002 2053 2236 2348 4489
अंतिम परीक्षा के उपरान्त चुने गये छात्र 305 410 4796 1714 295 492 497
अंतिम रूप से प्रवेश प्राप्त छात्र 174 306 199 121 149 281 236
CONTACT FOR ADMISSION: +91-011-6545652